ग्रोथ प्लान


बीएसएनएल ने अपने गठन के समय से ही विकास कथा को जारी रखा है और वर्तमान में यह भारत की सबसे बड़ी और अग्रणीय सार्वजनिक क्षेत्र इकाई है जो गुलदस्ते के रूप में दूरसंचार सेवाएँ जैसे वायरलाइन, जीएसएम मोबाइल ,सीडीएमए मोबाइल, इंटरनेट, ब्रॉडबैंड, कैरियर सेवा, एमपीएलएस-वीपीएन, वीएसएटी, वीओआईपी, आईएन सेवाएँ इत्यादि प्रदान कर रही है । 31 अक्टूबर 2016 तक बीएसएनएल का उपभोक्ता बेस 109.26 मिलियन है।

बीएसएनएल द्वारा शुरु/प्लान की गईं नई सेवाएं


3जी सर्विसेज : बीएसएनएल ने 3 जी सेवाएँ देश भर के 4519 नगरों में फैली हुई हैं और सभी 2 जी ग्राहकों को 3 जी सुविधा प्रदान की गई हैं ।

ब्रॉडबैंड सर्विसेज : नेटवर्क में वॉयस से डॉटा में मांग के परिवर्तन के कारण क्रांति आ गई है। बीएसएनएल इस अवसर का लाभ उठाने के लिए तैयार है और उसने ब्रॉडबैंड सेवाओँ के गहन विस्तार की योजना बनाई है। बीएसएनएल ने न्यूनतम डाउनलोड गति को 2 एमबीपीएस तक बढ़ा दिया है। बीएसएनएल ने 1.73 लाख गाँवों को ब्रॉडबैंड सेवाओँ से जोड़ा है। अक्टूबर, 2016 में ब्रॉडबैंड उपभोक्ता बेस बढ़कर 21.86 मिलीयन हो गया है।

वैल्यू एडिड सर्विसेज : बीएसएनएल उच्च श्रेणी के उपभोक्ताओं को लुभाने के लिए तथा वीएएस से राजस्व को दुगना करने के लिए मूल्य वर्धित सेवाओं/ विशेषताओँ के प्रावधान पर ध्यान केन्द्रित कर रहा है।

फाइबर टू होम (FTTH) : बीएसएनएल ने उच्च बैंडविड्थ सेवाओँ की माँग को पूरा करने के लिए वर्ष 2010 में देश में एफटीटीएच सेवाओँ(जीपीओएन और जीई-पीओएन) की शुरूवात की थी। 31.10.2016 तक, बीएसएनएल ने देश भर में एक लाख से ज्यादा एफटीटीएच कनेक्शन प्रदान किए हैं।


महत्वपूर्ण परियोजनाएं जिनका क्रियान्वयन जारी है
  • चरण VII के तहत 15 मिलियन लाइन की जीएसएम विस्तार परियोजना को शुरू किया गया है जिसमें आगे चरण VII+ परियोजना के तहत वृद्धि की योजना है ।
  • चरण VIII.4 के नाम से जीएसएम विस्तार परियोजना की शुरूवात निम्न के लिए की गई है:
  • उच्च प्रचालन लागत और एएमसी वाले पुराने उपकरणओं को बदला जाना।
  • 3जी पदचिह्नों को बढाने के लिए3जी क्षमता में वृद्धि।
  • 4जी सेवाओँ की शुरूवात।
  • वायरलाइन ग्राहकों का लीगेसी नेटवर्क से नेक्स्ट जनरेशन नेटवर्क(एनजीएन) में स्थानांतरण ।
  • वाई-फाई सेवा की शुरूआत: आगामी वर्षों में बीएसएनएल ने 40,000 हॉटस्पाट्स लगाने की योजना बनाई है ।
  • ऑप्टीकल फाइबर नेटवर्क में वृद्धि।
  • डिफेंस(एनएफएस) के लिए दूरंसचार विभाग के वैकल्पिक संचार ढाँचा निर्माण कार्य का निष्पादन करना।
  • बीबीएनएल के आंशिक कार्य /पंचायत(एनओएफएन) को उच्च गति ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी की परियोजना का निष्पादन
  • वामपंथी उग्रवादी(एलडब्ल्यूई) क्षेत्रों में मोबाइल टावर्स की संस्थापना।
  • ओएफसी के माध्यम से 3200 कि.मी. से अधिक कवर करने के लिएपूर्वोत्तर क्षेत्र के लिए व्यापक संचरण-विकास योजना का