बीएसएनएल के बारे में


 

building
भारतसंचार निगम लिमिटेड का निगमीकरण 15 सितंबर 2000 को हुआ । कंपनी ने 1 अक्टूबर 2000 से केन्द्र सरकार के तत्कालीन दूरसंचार सेवा विभागों (डीटीएस) और दूरसंचार संचालन (डीटीओ) के दूरंचार सेवा और नेटवर्क प्रबंधन प्रदान करने के व्यवसाय को सामंजस्य आधार पर लिया । भारत में दूरसंचार सेवाओं की व्यापक रेंज उपलब्ध कराने वाली सबसे बड़ी और प्रमुख सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों में से यह एक है । बीएसएनएल ने देश भर में गुणवत्तापूर्ण दूरसंचार नेटवर्क स्थापित किया है और उपभोक्ताओं के विश्वास को जीतने के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में आईसीटी अनुप्रयोगों सहित नई दूरसंचार सेवाओं को आरंभ करने, नेटवर्क के विस्तार और इसमें सुधार पर इसने अपना ध्यान केन्द्रित किया है । इसकी बेसिक टेलीफोन क्षमता लगभग 43.74 मिलियन, डब्ल्यूएलएल क्षमता 8.83 मिलियन, जीएसएम क्षमता 72.60 मिलियन, 37,885 फिक्स्ड एक्सचेंज, 68,162 जीएसएम बीटीएस, 12,071 सीडीएमए टॉवर, 6,86,644 ओएफसी रूट कि.मी., 50,430 रूट कि.मी. का माइक्रोवेव नेटवर्क जो 623 जिलों, 7330 शहरों/नगरों एवं 5.8 लाख गांवों को आपस में जोड़ता है.

 

बीएसएनएल एकमात्र सेवा प्रदाता है जो आईसीटी क्षेत्र में ग्रामीण-शहरी डिजिटल विभाजन को भरने के लिए केन्द्रित प्रयास कर रहा है और पहल करने की योजना बना रहा है । वास्तव में, देश में ऐसा कोई संचार प्रदाता नहीं है जो इसकी पहुँच और दिल्ली व मुंबई को छोड़कर देश के प्रत्येक कोने में इसके व्यापक नेटवर्क के माध्यम से दी जा रही सेवाओं को मात दे सके । चाहे यह सियाचिन ग्लेशियर का दुर्गम क्षेत्र हो अथवा देश का उत्तरी-पूर्वी क्षेत्र, बीएसएनएल अपनी व्यापक दूरसंचार सेवाओं जैसे वायरलाइन, सीडीएमए मोबाइल, जीएसएम मोबाइल, इंटरनेट, ब्रॉडबैंड, कैरियर सेवाएँ, एमपीएलएस-वीपीएन, वीसैट, वीओआईपी, आईएन सेवाएँ, एफ़टीटीएच आदि के माध्यम से अपने उपभोक्ताओं की सेवा कर रहा है ।

बीएसएनएल अपने लाइसेन्स क्षेत्र में, मुख्य सेवा प्रदाता है । कंपनी ने प्रत्येक उपभोक्ता के लिए उपयुक्त सबसे पारदर्शी और अत्यधिक रेंज वाली टैरिफ योजनाएँ प्रस्तुत की हैं । बीएसएनएल में 31.03.2016 तक 943.6 लाख सेलुलर उपभोक्ता और 10.2 लाक डबल्यूएलएल उपभोक्ता हैं । बीएसएनएल के सभी 2जी कनेक्शन में 3जी सुविधा दी गई है । मूल सेवाओं में, बीएसएनएल अपने 138.8 लाख वायरलाइन फोन सब्सक्राइबर अर्थात वायरलाइन सबस्क्राइब बेस के 56.96% के साथ बाजार में अग्रणी है ।

बीएसएनएल ने विश्व-स्तरीय मल्टीगीगाबाइट, मल्टी-प्रोटोकॉल कनवरजेंट आईपी इन्फ्रास्ट्रक्चर को स्थापित किया है जो समान आधार और ब्रॉडबैंड एक्सेस नेटवर्क के माध्यम से वॉइस, डाटा और विडियो जैसी सभी सुविधाएं प्रदान करता है । वर्तमान में, वायरलाइन और वायरलेस ब्रॉडबैंड दोनों में 218.6 लाख उपभोक्ता शामिल हैं ।

कंपनी के पास स्वीचिंग व ट्रांसमिशन की योजना, संस्थापन, नेटवर्क एकीकरण और अनुरक्षण का व्यापक अनुभव है और विश्व स्तरीय आईएसओ 9000 प्रमाणित दूरसंचार प्रशिक्षण संस्थान है । 2015-16 के दौरान, बीएसएनएल का वार्षिक राजस्व 32,919 करोड़ रुपये है ।

 

दृष्टिकोण:

  • वैश्विक तौर पर उपस्थिति दर्ज़ कराते हुए भारत में अग्रणी टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर बनना.
  • ग्राहक सेवा, बिक्री और मार्केटिंग में उत्कृष्टता दर्शाते हुए एक ग्राहक केंद्रित संगठन तैयार करना.
  • सभी क्षेत्रों के ग्राहकों को सस्ती और अभिनव टेलीकॉम सेवाएं/उत्पाद उपलब्ध कराने के लिए प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल.

मिशन:

  • सर्वाधिक विश्वसनीय, पसंदीदा और प्रशंसित दूरसंचार ब्रांड बनना।
  • उचित मूल्य पर भरोसेमंद दूरसंचार सेवाएँ प्रदान करना ।
  • सभी अंशधरकों (शेयरहोल्डर)- कर्मचारी, शेयरधारक, विक्रेताओं एवं व्यावसायिक सहयोगियों हेतु मूल्य सृजित करना।
  • ग्राहक सेवा में उत्कृष्टता-अनुकूल, भरोसेमंद, समयबद्ध, सुविधाजनक एवं सुसम्य सेवा।
  • विभिन्न सेवा खंडों के अनुसार विशिष्ट उत्पाद/सेवा प्रदान करना।
  • मार्केटिंग (विपणन) एवं सेल्स (विक्रय) संस्कृति विकसित करना जो ग्राहकों की आवश्यकताओं के अनुरूप हों ।
  • वैश्विक उपस्थिती हेतु अंतर्राष्ट्रीय बाजार का अन्वेषण ।
  • लाभप्रदता पर सतत फोकस रखते हुए वर्तमान परिसंपत्तियों पर प्रतिलाभ (रिटर्न) अधिकतम करना ।
  • पारदर्शी, त्वरित एवं दक्ष निर्णय को समर्थ करने हेतु नीतियों एवं प्रक्रियों को परिवर्तित करना ।

उद्देश्य:

  • विक्रय एवं मार्कटिंग,सेवा की गुणता तथा ग्राहकों तक पहुँच के द्वारा उपभोक्ताओं के प्रतिधारण (रिटेंशन) व अधिग्रहण पर फोकस के साथ विक्रय/सेल्स राजस्व बढ़ाना ।
  • प्रौद्योगिकी के उन्नयन (अपग्रेडेशन) के साथ मोबाइल एवं डाटा सेवाओं के विस्तार की गति बढ़ाना।
  • नगरीय (शहरी) उपनगरीय तथा ग्रामीण क्षेत्रों में बीएसएनएल की दृश्यता बढ़ाना।
  • ग्राहक सेवा की अभिवृत्ति (attitude) के साथ विक्रय (सेल्स) एवं मार्कटिंग (विपणन) टीम (दलों) बनाना।
  • दोष-दर कम करने हुए, उपभोक्ता/ग्राहक सेवा केन्द्रों (CSCs) को बेहतर बनाते हुए तथा अभिमुखी (कनवरजेंट) बिलिंग की शुरुआत के साथ ग्राहक सेवा को बेहतर बनाना।
  • बीएसएनएल सेवाओं की ओर ग्राहकों की प्रसन्नता/संतोष बढ़ाने हेतु कार्य निष्पादन पर सशक्त फोकस के साथ एक पथप्रदर्शक कार्यवातावरण प्रदान करना।
  • वायरलाइन एवं वायरलेस ब्रॉडबैंड ग्राहकों हेतु उच्चतर बैंडविड्थ क्षमताएँ प्रदान करते हुए बीएसएनएल के ग्राहकों का आधार एवं राजस्व बढ़ाने हेतु प्रभावशाली डाटा सेवाएँ।
  • वर्तमान आधारिक संरचना (infrastructure) जैसे भूमि, भवन के मुद्रीकरण/सांझा करने के माध्यम से तथा निष्क्रिय आधारिक संरचना जैसे टावर आदि साझा करने आदि के माध्यम से अपनी परिसंपत्तियों के लाभकारी उपयोग के द्वारा कंपनी की वित्तीय संरचना को सशक्त करना ।
  • परंपरागत वायरलाइन दूरभाष केन्द्रों द्वारा NGN (नेक्स्ट जनरेशन नेटवर्क) के स्थान पर वाई-फ़ाई हॉट स्पोट्स (Wi-fi Hot Spots) तैयार करना।
  • FTTH (एफ़टीटीएच) के माध्यम से उपभोक्ताओं के परिसर, विशेष रूप से अपार्टमेंट कॉम्प्लेक्स में फाइबर नेटवर्क की पहुँच ताकि डाटा एवं वीडियो दोनों अनुप्रयोगों हेतु बैंडविड्थ आवश्यकता को हमेशा बढ़ाया जा सके।
  • सरकारी कार्यकर्मों तथा पहल (इनिशिएटिव) यथा नेशनल ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क (नोफन), नेटवर्क फॉर स्पेक्ट्रम (एनएफ़एस) तथा स्मार्ट सिटि कोनसेप्ट में निवास को लागू करते हुए राष्ट्र निर्माण में योगदान देने के लिए बीएसएनएल के वर्तमान आधारिक संरचना को प्रभावशाली बनाना।
  • प्रशिक्षण कौशल विकास तथा मौजदा जनशक्ति में पुनफैलाव (रिडिप्लायमेंट) के द्वारा उत्पादकता को बेहतर करना।
  • बीएसएनएल लाइसेंसी क्षेत्रों सहित दूरसंचार क्षेत्र में नवीनतम प्रौद्योगिकीय उन्नयन तथा देशी ज्ञान भंडार के प्रसार को विकसित करना।
  • अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार विकासशील बाजार जैसे अफ्रीका के अन्वेषन द्वारा बीएसएनएल पदचिह्न के संभावित विस्तार के अवसर देखना।